जी.पी.एस. वाहन ट्रैकिंग सिस्‍टम पर प्रशिक्षण सह-कार्यशाला
भोपाल। लोकसभा निर्वाचन 2019 में ई.व्‍ही.एम./व्‍ही.व्‍ही.पैट. के परिवहन के लियेजी.पी.एस. वाहन ट्रैकिंग सिस्‍टम पर प्रशिक्षण एवं कार्यशाला का आयोजन नरोन्‍हाप्रशासन अकादमी भोपाल में हुआ। कार्यक्रम में जी.पी.एस. नोडल एवं तकनीकी अधिकारी उपस्थित थे। कार्यशाला में मतदाता जागरूकता को बढ़ाने वाले पोस्‍टर का विमोचन किया गया।

कार्यशाला में संयुक्त मुख्‍य निर्वाचन पदाधिकारी श्री अभिजीत अग्रवाल ने कहा कि चुनाव की विश्वसनीयता कोहर हाल में बनाये रखना है। जी.पी.एस. से इस कार्य में काफी सहूलियत रहेगी। जी.पी.एस एक सर्विस अनुबंध है। जी.पी.एस. वेंडर द्वारा लगाया जाएगा तथा कार्य समाप्ति के बाद इसे निकाला जाएगा। जी.पी.एस. वाहन ट्रैकिंग सॉफ्टवेयर रीयल टाइम का डेटा दिखाता है। यह वाहन के चलने, रूकने और गति को भी दर्शाता है। उन्होंने कहा कि एक गाड़ी में एक डिवाइस लगायी जाएगी। जिलों में इसका कन्‍ट्रोल रूम भी बनाया जाएगा।

कार्यशाला में उप मुख्‍य निर्वाचन पदाधिकारी श्री संजीव जैन एवं चयनित वेंडर द्वारा जी.पी.एस ट्रैकिंग की कार्य-प्रणाली, जिलों से अपेक्षाएँ एवं कम्‍प्‍यूटर सिस्‍टम की जानकारी दी गई।

कोई जवाब दें