पीएसएलवी-सी45 ने एमीसैट और अन्य देशों के 28 उपग्रहों को सफलतापूर्वक लांच किया
नई दिल्ली। पीएसएलवी-सी45 ने आज श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र से एमीसैट और अन्य देशों के 28 उपग्रहों को सफलतापूर्वक लांच किया। पीएसएलवी-सी45 ने दूसरे लांच पैड से भारतीय समयानुसार 9:27 पर उड़ान भरी। वह 17 मिनट और 12 सैकेंड के बाद अपनी कक्षा में स्थापित हो गया। उसके बाद सौर ऊर्जा से चलने वाली एमीसैट की दो श्रृंखलाएं स्थापित हो गई तथा बेंगलुरु स्थित इसरो टेलीमेट्री ट्रेकिंग और कमॉन नेटवर्क ने उपग्रह पर नियंत्रण प्राप्त कर लिया। आने वाले दिनों में यह उपग्रह पूरी तरह संचालित हो जाएगा।

एमीसैट इसरो के मिनी उपग्रह-2 के आधार पर निर्मित है। इसका भार लगभग 436 किलोग्राम है। इसे इलेक्ट्रोमेगनेटिक स्पेक्ट्रम पैमाइश के लिए तैयार किया गया है।

इसके अलावा चार देशों के भी कुल 28 अंतर्राष्ट्रीय़ उपग्रहों को भी लांच किया गया। इनमें लिथुआनिया के दो, स्पेन का एक, स्विटजरलैंड का एक और अमरीका के 24 उपग्रह शामिल हैं। इस अवसर पर इसरो के अध्यक्ष डॉ. के सिवान ने कहा कि आज का पीएसएलवी अभियान कई मामलों में अनोखा है। उन्होंने वैज्ञानिकों को बधाई भी दी।

उल्लेखनीय है कि अगले अभियान के तहत पीएसएलवी– सी 46 मई 2019 में रीसैट-2 बी को लांच करेगा।

कोई जवाब दें