फुटबॉल: भारतीय महिलाओं ने पांचवीं बार जीता सैफ खिताब
भारतीय महिला फुटबॉल टीम ने अपना दबदबा बरकरार रखते हुए मेजबान नेपाल को शुक्रवार को 3-1 से पराजित कर लगातार पांचवीं बार सैफ महिला फुटबॉल चैंपियनशिप का खिताब जीत लिया।

भारत ने इस खिताबी जीत से टूनार्मेंट के इतिहास में अपना अपराजेय क्रम 23 मैच पहुंचा दिया है। भारत की जीत में डालिमा छिब्बर, ग्रेस डांगमेई और स्थानापन्न खिलाड़ी अंजू तमांग ने गोल दागे। भारतीय टीम ने पूरे मैच में अपना दबदबा बनाये रखा और नेपाल को वापसी करने का कोई मौका नहीं दिया।
भारतीय महिला टीम ने शुरुआत से ही मेजबान टीम को दबाव में ला दिया, हालांकि भारतीय गोलकीपर अदिति चौहान ने 14वें मिनट में मंजली कुमार के शॉट पर शानदार बचाव किया। इसके तीन मिनट बाद संजू के शक्तिशाली शॉट को नेपाल की गोलकीपर ने बचा लिया।

भारत के लिए सेमीफाइनल में बंगलादेश के खिलाफ गोल करने की शुरुआत करने वाली डालिमा ने फाइनल में भी भारत का पहला गोल दागा। 26वें मिनट में मिली फ्री किक पर डालिमा का 30 गज़ की दूरी से लिया गया शक्तिशाली शॉट नेपाली गोलकीपर को छका गया। रतन बाला देवी छह मिनट बाद भारत की बढ़त को दोगुना कर सकती थी लेकिन उनके शॉट को नेपाली गोलकीपर ने बचा लिया।

मैच के 34वें मिनट में सबित्रा ने हैडर से नेपाल के लिए बराबरी का गोल कर दिया। पहले हाफ के इंजरी समय में अदिति ने सबित्रा के एक और प्रयास को बचा दिया। दूसरे हाफ में संजू और रतन बाला ने शानदार तालमेल दिखाते हुए बार बार नेपाल के बाक्स में सेंध लगाई और इसका फायदा 63वें मिनट में मिल गया। संजू के पास पर ग्रेस ने भारत का दूसरा गोल दाग दिया।

भारतीय कोच मेमोल रॉकी ने अंजू तमांग को दूसरे हाफ में संध्या की जगह उतारा और अंजू ने 78वें मिनट में भारत का तीसरा गोल करते हुए कोच के फैसले को सही साबित कर दिया। भारत ने अपनी दो गोल की बढ़त को अंत तक बरकरार रखते हुए पांचवीं बार सैफ ट्रॉफी जीत ली।

कोई जवाब दें