शासकीय अधिकारी, कर्मचारियो के लिए आचरण संहिता (लोकसभा निर्वाचन 2019)
भोपाल। लोक सभा आम निर्वाचन के लिए आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील हो गई है। इसके मद्देनजर आयोग के निर्देशों के मुताबिक जिले के शासकीय, अर्द्धशासकीय कार्यालय और संस्थानों के अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित करना अनिवार्य है।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सुदाम खाडे ने बताया है कि शासकीय अधिकारी, कर्मचारी को ऐसा कोई कार्य नही करना चाहिए जिसमें किसी राजनैतिक दल या अभ्यर्थियो के नीतियो और कार्यक्रम का गुणगान सम्मिलित हो। शासकीय अधिकारियों, कर्मचारियों को किसी भी राजनैतिक दलो द्वारा आयोजित जुलूस, सभा मे सम्मिलित होने की अनुमति नही होगी। ऐसा पाये जाने पर आदर्श आचरण का उल्लंघन होगा। अधिकारी-कर्मचारी को किसी भी राजनैतिक दल का प्रचार-प्रसार नही करना चाहिए।

अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा अभ्यथियों के कैम्पों मे खाद्य पदार्थ का वितरण नही किया जाना चाहिए। मतदान दल के अधिकारियो, कर्मचारियो को जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा दिए गए विधिमान्य पास के बिना मतदान केन्द्रो में प्रवेश वर्जित रहेगा। अधिकारी-कर्मचारी किसी भी राजनैतिक पार्टी का स्टीकर, प्रचार सामग्री, झण्डा, बैनर नहीं लगाएगा। अधिकारी, कर्मचारी मतदान केंद्र मे पहुचने व मतदान समाप्त होने तक किसी नजदीकी रिश्तेदार व अन्य राजनैतिक कार्यकर्ता के यहां न ठहरेगा और न भोजन करेगा। अधिकारी-कर्मचारी मतदान केंद्र मे मदिरा पान व अन्य नशीली दवाओ का सेवन नही करेगा। अधिकारी, कर्मचारी किसी भी राजनैतिक दल या अभ्यर्थी के वाहन मे न तो बैठेगा और न ही उसका उपयोग करेगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी संबंधितों से आचरण संहिता के अक्षरश: पालन करने की अपेक्षा की है।

कोई जवाब दें