सन्तुलन खो बैठे हैं मोदी और स्मृति ईरानी, 5 साल तक जांच क्यों नहीं कराई : कांग्रेस
नई दिल्ली। बीजेपी की ओर से राहुल गांधी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाए जाने के बाद कांग्रेस ने पलटवार करते हुए बुधवार को आरोप लगाया कि बदले की भावना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सन्तुलन खो बैठे हैं और बिना सिर-पैर के आरोप लगा रहे हैं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी सवाल किया कि पांच वर्षों से मोदी सरकार ने जांच क्यों नहीं कराई।

सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ”हार नजदीक देखकर मोदी जी लड़खड़ा रहे हैं , भटका भी रहे हैं। लेकिन 2019 में भी वह तीन प्रान्तों की तरह हारने वाले हैं।” उन्होंने कहा, ” मुझे लगता है कि राहुल गांधी से नफरत और बदले की आग में मोदी जी और स्मृति ईरानी जी इतने अंधे हो गए हैं कि वो सन्तुलन खो बैठे हैं और रोजाना बे-सिर-पैर के आरोप लगा रहे हैं।”

कांग्रेस नेता ने कहा, ”आपकी पांच साल से सरकार है। आपने अब तक जांच क्यों नहीं की? सारी जांच एजेंसियां उनके पास हैं तो फिर 2019 में आरोप लगाने के लिए इंतजार क्यों कर रहे थे?” उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि उनकी बातों में कोई दम नहीं है। स्मृति ईरानी पर तंज कसते हुए सुरजेवाला ने कहा, ‘किसी अयोग्य और अशिक्षित व्यक्ति के मंत्री बनने पर यही सब होता है।”

दरअसल, केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता स्मृति ईरानी ने हरियाणा में जमीन खरीद के एक मामले का हवाला देते हुए कहा कि एचएल पाहवा नाम के एक शख्‍स के यहां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की रेड में उसके पास से राहुल गांधी के साथ लेन-देन के दस्तावेज मिले हैं। उन्होंने आगे कहा कि यह माना गया है कि संस्थागत भ्रष्टाचार कांग्रेस की देन रही है। बीजेपी ने यह हमला कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की पहली रैली के बाद किया है।

कोई जवाब दें