पर्यटन मंत्रियों ने 2019 को आसियान-भारत- पर्यटन वर्ष घोषित किया
नई दिल्ली। केन्‍द्रीय पर्यटन मंत्री श्री के.जे. अल्‍फोंस आज वियतनाम के हा लोंग शहर में आसियान देशों तथा भारत के पर्यटन मंत्रियों की सातवीं बैठक में शामिल हुए। श्री के.जे. अल्‍फोंस ने वियतनाम के संस्‍कृति, खेल तथा पर्यटन मंत्री श्री एनगुयेन एनगोक थियेन के साथ पर्यटन मंत्रियों की बैठक की सह-अध्‍यक्षता की। पर्यटन मंत्रियों ने 2018 में आसियान तथा भारत के पर्यटन प्रदर्शन पर विचार किया। 2018 में आसियान तथा भारत में 139.5 मिलियन पर्यटकों का आगमन हुआ जो पिछले वर्ष की तुलना में 7.4 प्रतिशत अधिक है।

बैठक के दौरान सिंगापुर में 15 नवम्‍बर 2018 को आसियान-भारत अनौपचारिक ब्रेक फास्‍ट सम्‍मेलन के निर्णयों का स्‍वागत किया। पर्यटन मंत्रियों ने आसियान-भारत पर्यटन सहयोग वर्ष 2019 लांच किया और आशा व्‍यक्‍त की कि दोतरफा पर्यटन आगमन की दृष्टि से सहयोग बढ़ेगा और आसियान तथा भारत के बीच लोगों के आदान-प्रदान को प्रोत्‍साहन मिलेगा। इससे पहले, 2018 में आसियान-भारत स्‍मृति सम्‍मेलन में भारत के प्रधानमंत्री ने 2019 को आसियान-भारत पर्यटन वर्ष घोषित करने का प्रस्‍ताव किया था। इस विषय पर थाईलैंड में 20वें आसियान-भारत पर्यटन कार्य समूह की बैठक में विचार किया गया था और आसियान-भारत पर्यटन वर्ष की गतिविधियों पर कलैंडर तैयार करने का निर्णय लिया गया।

पर्यटन मंत्रालय ने पर्यटन वर्ष मनाने के लिए विभिन्‍न आयोजनों को शामिल करते हुए एक कलैंडर तैयार और साझा किया है।

पर्यटन मंत्रियों ने पर्यटन सहयोग मजबूत बनाने पर आसियान और भारत के बीच 2012 के समझौता ज्ञापन के ढांचे के अंतर्गत पर्यटन के क्षेत्र में आसियान-भारत सहयोग को और बढ़ाने पर सहमति व्‍यक्‍त की। बैठक में 2018 में किये गये समझौता ज्ञापन को लागू करने के काम में प्रगति पर भी विचार किया गया।

इस बैठक में ब्रुनेई दारेसलाम, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओ पीडीआर, मलेशिया, म्‍यांमार, फिलिपिंस, सिंगापुर तथा थाईलैंड के पर्यटन मंत्री भी शामिल हुए।

कोई जवाब दें