भोपाल। मध्य प्रदेश विधान सभा में स्पीकर औऱ डिप्टी स्पीकर पद के चुनाव और हंगामे के बाद मुख्य विपक्षी दल भाजपा के आरोप पर सीएम कमलनाथ ने जवाब दिया है। कमलनाथ ने एक सवाल के उत्तर में कहा की स्पीकर का चुनाव विधायक य एमएलए जैसा नहीं होता है इसमें प्रस्ताव प्रस्तुत होता है यह नियम में लिखा है। स्पीकर की जो कार्यवाही हुई है वह ब्लैक एंड वाइट में हैं निवर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उसे पढ़ सकते हैं। श्री नाथ ने यह बात उस सवाल के जबाव में कही जिसमें शिवराज ने आज ही मीडिया से बातचीत में यह कहा की स्पीकर का चुनाव अवैध है। उन्होंने कहा बीजेपी ने परंपरा को तोड़ा है. बीजेपी ये बात हजम नहीं कर पा रही है कि वो अब विपक्ष में है. सीएम ने कहा ये तो अभी ट्रेलर है, अभी एक के बाद एक कई ख़ुलासे हमारी सरकार करेगी.

कमलनाथ ने विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चित काल के लिए स्थगित होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की और विपक्ष के हमलों का जवाब दिया। उन्होंने कहा विधान सभा अध्यक्ष पद के लिए बीजेपी ने अपना उम्मीदवार खड़ा कर बीजेपी ने परंपराएं तोड़ना शुरू किया था. इसलिए हमें डिप्टी स्पीकर के लिए अपना उम्मीदवार खड़ा करना पड़ा. स्पीकर के चुनाव में हमने बहुमत साबित किया था. कांग्रेस के साथ 120 सदस्य थे और बीजेपी के साथ 109 सदस्य थे. बीजेपी बार-बार लगातार कह रही थी कि अल्पमत की सरकार है. उसके आरोप को हमने सदन में ग़लत साबित कर दिया.

कोई जवाब दें