कॉमनवेल्थ कराते चैम्पियनशिप साउथ अफ्रीका-2018
मध्यप्रदेश कराते अकादमी के खिलाड़ियों ने देश को दिलाए छह पदक
भोपाल। डर्बन, साउथ अफ्रीका में 29 नवम्बर से दो दिसम्बर, 2018 तक खेली गई 9वीं कॉमनवेल्थ कराते चैम्पियनशिप में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए मध्यप्रदेश राज्य कराते अकादमी के खिलाड़ियों ने चार स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य सहित छह पदक देश को दिलाए। कॉमनवेल्थ कराते चैम्पियनशिप में अकादमी के चार सीनियर और तीन जूनियर खिलाड़ियों ने भागीदारी की और पदक जीतकर देश और प्रदेश को गौरवान्वित किया। इस चैम्पियनशिप में 17 देशों के लगभग 550 खिलाड़ियों ने भाग लिया।

कॉमनवेल्थ कराते चैम्पियनशिप में अकादमी की खिलाड़ी सुप्रिया जाटव ने (-61 किलोग्राम) महिला वर्ग की व्यक्तिगत कुमीते स्पर्धा के फायनल मुकाबले में साउथ अफ्रीका की खिलाड़ी को 20 सेकंड के रिकार्ड समय में 8-0 से हराकर देश को स्वर्ण पदक दिलाया। इसी तरह दीपक नरवरिया ने सीनियर (-67 किलोग्राम भारवर्ग) व्यक्तिगत कुमीते स्पर्धा में स्वर्ण पदक अर्जित किया। साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी से हुए फायनल रोमांचक मुकाबले में 3-2 के अंतर से मेजोरिटी डिसीजन लेकर दीपक नरवरिया को विजयी घोषित किया गया। इसी तरह बालक एवं बालिका जूनियर वर्ग में भी अकादमी के खिलाड़ियों ने दो स्वर्ण पदक अर्जित किए। जूनियर बालिका (-59 किलोग्राम भारवर्ग) व्यक्तिगत कुमीते स्पर्धा में अकादमी की खिलाड़ी अन्वेशा सिंह ने साउथ अफ्रीका की खिलाड़ी को 9-6 से पराजित कर स्वर्ण पदक जीता। जबकि जूनियर बालक वर्ग की व्यक्तिगत कुमीते स्पर्धा में अकादमी के खिलाड़ी ऋषभ तोमर (-59 किलोग्राम भारवर्ग) ने साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी को 2-1 के अंतर से हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। सीनियर पुरूष टीम कुमीते स्पर्धा में अकादमी के खिलाड़ी दीपक नरवरिया ने रजत पदक अर्जित किया। जबकि अकादमी की खिलाड़ी सुप्रिया जाटव और शिवानी कराले ने अरूणाचल प्रदेश की खिलाड़ी जॉनी के साथ मिलकर सीनियर महिला टीम कुमीते स्पर्धा में कांस्य पदक अर्जित किया।

खेल संचालक डॉ. थाउसेन ने अकादमी के पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई दी और उनके शानदार प्रदर्शन की सराहना की। खेल संचालक ने खिलाड़ियों को आगामी स्पर्धाओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित करते हुए अपनी शुभकामनाए भी दी। इस अवसर पर संयुक्त संचालक श्री बी.एस. यादव भी उपस्थित थे। उक्त खिलाड़ी कराते अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक श्री जयदेव शर्मा के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।

कोई जवाब दें