जी-20 सम्मेलन में बोले प्रधानमंत्री मोदी, योग के जरिए गहरी हो रही भारत-अर्जेंटीना की दोस्ती
ब्यनूस आयर्स : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि योग अर्जेंटीना और भारत के बीच विशाल दूरी को पाट रहा है और दोनों देशों के लोगों को जोड़ रहा है. एक योग कार्यक्रम में प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि योग स्वास्थ्य और शांति के लिये भारत की ओर से दुनिया को तोहफा है. प्रधानमंत्री ने हिंदी में कहा, ‘‘मैं 24 घंटे से ज्यादा समय में 15000 किलोमीटर से अधिक दूरी तय करके महज कुछ घंटे पहले यहां पहुंचा हूं. आपके प्रेम और उत्साह की वजह से मैं महसूस कर रहा हूं कि मैं भारत के बाहर नहीं हूं.’’

‘योग फॉर पीस’ कार्यक्रम के आयोजकों की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि इससे बेहतर नाम के बारे में सोचना मुश्किल है. उन्होंने कहा, ‘‘योग आपके शरीर और दिमाग दोनों को स्वस्थ रखता है. यह आपके शरीर को मजबूत बनाता है और आपके मस्तिष्क को शांत रखता है.’’

उन्होंने कहा कि अगर दिमाग शांत होगा तो परिवार, समाज, देश और दुनिया में भी शांति रहेगी. उन्होंने कहा, ‘‘योग स्वास्थ्य, तंदरुस्ती और शांति के लिये भारत की ओर से दुनिया को तोहफा है. यह तंदरुस्ती और खुशी से हमें जोड़ता है.’’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘योग भारत और अर्जेंटीना के बीच विशाल दूरी को पाट रहा है. यह दोनों देशों और उनके लोगों को जोड़ रहा है.’’ उन्होंने कहा कि जहां अर्जेंटीना की भारत की कला, संगीत और नृत्य में गहरी दिलचस्पी है, वहीं हमारे देश में अर्जेटीना के फुटबॉल खिलाड़ियों के लाखों प्रशंसक हैं. माराडोना का नाम हमारी दैनिक बातचीत का हिस्सा बन गया है.

उन्होंने ओडिशा में चल रहे हॉकी विश्व कप के पहले मैच में जीत के लिये अर्जेंटीना की हॉकी टीम को भी बधाई दी. उन्होंने कहा, ‘‘यह हमारे लिये गर्व और खुशी की बात है कि अर्जेंटीना जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है. वैश्विक अर्थव्यवस्था, सतत विकास, जलवायु परिवर्तन और भगोड़े आर्थिक अपराधियों जैसे मुद्दों पर शिखर सम्मेलन के दौरान चर्चा होगी. ये न सिर्फ भारत और अर्जेंटीना बल्कि समूची दुनिया के हित में हैं.’’

कोई जवाब दें