जर्मनी ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के विस्तार पर भारत का समर्थन किया
नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘एक विश्व, एक सूर्य, एक ग्रिड’ के विजन के तहत अर्जेन्टीना में जी 20 देशों के समूह की बैठक में अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के विस्तार का मुद्दा उठाये जाने से पहले जर्मनी ने भी इसकी वकालत की है। भारत में जर्मनी के राजदूत मार्टिन नेय ने गुरूवार को यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ यह अच्छा विचार है। इसके गठन के बाद से ही यह महसूस किया जा रहा है कि इस गठबंधन का विस्तार किया जाना चाहिए। इसमें और देशों को भी शामिल किये जाने की जरूरत है।’’ उन्होंने कहा कि भारत चाहता है कि जर्मनी जैसे देश भी इसमें शामिल हों और इसे देखते हुए जर्मनी ने इसकी सदस्यता के लिए आवेदन किया है।

श्री मोदी द्वारा शुरू किये गये अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन में 121 सदस्य हैं और यह गठबंधन सौर ऊर्जा के अधिक से अधिक इस्तेमाल के लिए काम करता है। विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रधानमंत्री के जी 20 देशों के समूह की बैठक में हिस्सा लेने के लिए अर्जेन्टीना रवाना होने की पूर्व सन्ध्या पर कहा था कि इस बैठक में प्रधानमंत्री अन्य देशों को भी सौर गठबंधन में शामिल करने का मुद्दा उठायेंगे। गठबंधन के देशों की गत अक्टूबर में हुई पहली बैठक में यह निर्णय लिया गया था कि इसकी सदस्यता संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य देशों के लिए खोली जानी चाहिए। एक सवाल के जवाब में राजदूत नेय ने कहा कि यूरोपीय संघ और भारत के बीच मुक्त व्यापार समझौता काफी महत्वपूर्ण होगा। श्री मोदी के अर्जेन्टीना में जर्मनी की चांसलर एंजला मर्केल से मिलने की भी संभावना है।

कोई जवाब दें