कांग्रेस ने कहा, ‘कर्नाटक उपचुनाव देश में ‘बदलते मिजाज’ का संकेत’
नई दिल्ली: कर्नाटक उपचुनावों में पार्टी के अच्छे प्रदर्शन से प्रसन्न कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि यह देश में ‘बदलते मिजाज’ का संकेत है. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि कांग्रेस और अन्य प्रगतिशील एवं बहुलवादी ताकतों ने देश में बीते 10 उपचुनावों में भारतीय जनता पार्टी को ‘परास्त’ किया.

मनीष तिवारी ने कहा,‘आज कर्नाटक से मिली खबर बेहद उत्साहजनक है… यह देश में बदलते मिजाज का संकेत है.’ कर्नाटक में सत्तारूढ़ जद (एस)-कांग्रेस गठबंधन को मंगलवार मतदाताओं से मिले भरपूर समर्थन के कारण उसके उम्मीदवारों ने दोनों विधानसभा सीटों और तीन लोकसभा सीटों पर शनिवार को हुए उपचुनावों में कड़े मुकाबले में जीत दर्ज की.

उपचुनाव के ये नतीजे 2019 के चुनावों से पहले राज्य में मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी के लिए बड़ा झटका है. पार्टी बेल्लारी लोकसभा सीट हार गयी, जिसे विवादास्पद खनन कारोबारी रेड्डी बंधुओं का गढ़ माना जाता है.कर्नाटक उपचुनावों में संयुक्त जीत से संकेत मिलते हैं कि धर्मनिरपेक्ष दलों के बीच गठबंधन से बीजेपी को पराजित किया जा सकता है. यह बात मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कही.

जेडी(एस) – कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवारों ने पिछले शनिवार को हुए उपचुनावों में दो विधानसभा सीटों और तीन में से दो लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की.
इससे उत्साहित चव्हाण ने कहा कि उन्होंने जामखींडी विधानसभा क्षेत्र में दो-तीन जनसभाओं को कांग्रेस नेताओं सिद्धारमैया और मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ मिलकर संबोधित किया था.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा,‘स्थिति अच्छी थी. उत्तर कर्नाटक में बीजेपी के गढ़ में कांग्रेस की जीत काफी महत्वपूर्ण है. इसी तरह बेल्लारी लोकसभा सीट पर रेड्डी बंधुओं का धनबल काम नहीं आया और कांग्रेस ने बड़े अंतर से जीत हासिल की.’ चव्हाण ने कहा कि सांप्रदायिक आधार पर चुनावों के ध्रुवीकरण की बीजेपी की साजिश कर्नाटक में विफल रही. उन्होंने कहा,‘आज की जीत से साबित होता है कि कांग्रेस छोटे, धर्मनिरपेक्ष और क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन कर बीजेपी को परास्त कर सकती है.’

कोई जवाब दें