भोपाल, 20 जुलाई,2018 ( एमपीपोस्ट ) । मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सभी वर्गो को लुभाने की भरपूर कोशिश कर रहे हैं। इसी कड़ी में वे लगभग 3 लाख 75 हजार विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन देने जा रहे है।

एमपीपोस्ट को मिली अधिकृत जानकारी के अनुसार राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत संचालित शासकीय महाविद्यालयों में अध्ययनरत प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन प्रदान करने की योजना को निरंतर रखने का निर्णय लिया है।

राज्य मंत्रि-परिषद ने वर्ष 2017-18 से वर्ष 2019-20 तक के लिए रुपए 154 करोड़ की व्यय सीमा तक योजना निरंतर रखने की स्वीकृति प्रदान की। योजना से विद्यार्थियों को इंटरनेट और अन्य सॉफ्टवेयर के प्रयोग से नवीन जानकारी प्राप्त कर अध्ययन में आने वाली कठिनाइयों को दूर करने में सहायता मिलेगी।

उल्लेखनीय है कि उच्च शिक्षा विभाग ने स्मार्ट फोन योजना के तहत एमपीएसईडीसी के माध्यम से निविदा प्रक्रिया को पूर्ण कर लिया है। निविदा प्रक्रिया के जरिए एक कंपनी ने नए स्पेसिफीकेशन के अनुसार एक मोबाईल हैंडसेट की कीमत 6795 रूपये कोट की है। निविदा प्रक्रिया में 4 कंपनियों ने भाग लिया है जिनमें न्यूनतम रेट 6795 रूपये आये हैं। इस रेट के अनुसार एक शैक्षणिक वर्ष में 1 लाख 87 हजार से अधिक विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन दिये जाएंगे।

वर्ष 2017—18 के बच्चे अब स्नातक द्वितीय वर्ष पहुंच गये हैं। वर्ष 2017—18 और 2018—19 के शैक्षणिक वर्ष के लगभग 3 लाख 75 हजार विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन योजना का लाभ दिया जाएगा। मध्यप्रदेश सरकार का विद्यार्थियों को वितरित किये जाने वाले स्मार्ट फोन पर लगभग 240 करोड़ रूपये से अधिक व्यय होना संभावित है।

मध्यप्रदेश मंत्रिपरिषद ने 20 दिसम्बर 2017 को स्मार्ट फोन योजना के तहत व्यय सीमा निर्धारित और स्वीकृत कर दी थी। लेकिन स्मार्ट फोन वितरण पर व्यय होने वाली राशि स्वीकृत राशि से अधिक है। राज्य के विद्यार्थियों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मोबाईल फोन के वर्तमान में प्रचलित स्पेसिफीकेशन के हैंडसेट की मांग और अनुरोध किया था इस कारण स्पेसिफीकेशन के अनुसार नए मोबाईल स्मार्ट फोन पर व्यय होने वाली राशि स्वीकृत राशि से अधिक है। उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश शासन ने बढ़ी हुई राशि के लिए राज्य मंत्रिपरिषद से स्वीकृति प्रदान करने के लिए वित्त विभाग से पत्राचार प्रारंभ कर दिया है।

मुख्यमंत्री की मंशा है कि अगस्त या सितम्बर के अंत में वर्ष 2017—18 के विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन वितरित कर दिये जायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नए स्पेसिफीकेशन के साथ ही स्मार्ट फोन दिये जाने के लिए संबंधित अधिकारियों को विशेष निर्देश दिये थे।

उच्च शिक्षा विभाग ने हाल ही में एक समस्त शासकीय महाविद्यालयों के प्रचार्यो को निर्देश देते हुए बताया है कि वर्ष 2016—17 के स्मार्ट फोन का वितरण जिन महाविद्यालयों में नहीं हुआ है वहां 14 जुलाई 2018 तक पूर्ण कर लिया जाए। इसके बाद वर्ष 2016—17 के स्मार्ट फोन का वितरण संभव नहीं हो सकेगा। वर्ष 2014—15, 2015—16, 2016—17 के दौरान विद्यार्थियों को जो स्मार्ट फोन वितरित किये गये हैं उनमें एक स्मार्ट फोन की कीमत 2195 रूपये थी।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि मोबाईल फोन के वर्तमान में प्रचलित स्पेसिफीकेशन के हैंडसेट की मांग और अनुरोध विद्यार्थियों द्वारा किया गया था स्पेसिफीकेशन के अनुसार नए स्मार्ट फोन देना प्रक्रियागत है।
योजना में शासकीय महाविद्यालय में स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को उनकी 75 प्रतिशत नियमित उपस्थिति दर्ज होने के बाद स्मार्ट फोन का वितरण सुनिश्चित किया जायेगा।

कोई जवाब दें