भारत-कोरिया प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र का उद्घाटन हुआ
नई दिल्ली। केंद्रीय सूक्ष्म, लघु व मझौले (एमएसएमई) उद्यम राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गिरिराज सिंह तथा कोरिया गणराज्य के एसएमई व स्टार्टअप मंत्री श्री होंग जोंग –हाक ने आज नई दिल्ली में भारत कोरिया प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर श्री गिरिराज सिंह ने कहा कि प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र का उद्देश्य भारत और कोरिया के सूक्ष्म, लघु व मझौले उद्यमों के लिए एक साझा मंच उपलब्ध कराना है। इस केंद्र के माध्यम से उद्यमी आधुनिकतम तकनीक, प्रबंधकीय विशेषज्ञता, उत्पाद विकास तथा तकनीकी अनुप्रयोग साझा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कई कोरियाई संगठनों ने तकनीक हस्तांतरण के प्रति रूचि दिखाई है। व्यापार सहयोग के लिए केंद्र उन्हें विश्वसनीय सहयोगी प्रदान करेगा।

कोरिया गण राज्य के एसएमई तथा स्टार्टअप मंत्री श्री होंग जोंग –हाक ने कहा कि उनका देश एसएमई क्षेत्र में पर्याप्त विकसित है। कोरिया में मशीनरी और उपकरण, इलेक्ट्रानिक्स और रोबोटिक्स के क्षेत्र में अत्याधुनिक विनिर्माण तकनीक का उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के एसएमई एक-दूसरे से बहुत कुछ सीख सकते हैं और विश्व में प्रतिस्पर्धी बन सकते हैं।

भारत – कोरिया प्रौद्योगिकी विनिमय केंद्र की स्थापना नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय लघु उद्यम निगम के परिसर में की गई है।

कोई जवाब दें