नई दिल्ली। नीति आयोग के अटल नवाचार मिशन (एआईएम) ने अटल टिंकरिंग लैब (एटीएल) की स्‍थापना के लिए 3,000 और स्‍कूलों का चयन किया है। इसके साथ ही एटीएल स्‍कूलों की कुल संख्‍या बढ़कर 5,441 हो जाएगी। चयनित स्‍कूलों को देश भर में माध्‍यमिक विद्यालयों के बच्‍चों के बीच नवाचार एवं उद्यमिता भावना बढ़ाने हेतु अटल टिंकरिंग लैब की स्‍थापना करने के लिए अगले पांच वर्षों में बतौर अनुदान 20 लाख रुपये दिए जाएंगे। जल्‍द ही भारत के प्रत्‍येक जिले में एटीएल की स्‍थापना की जाएगी जिसका उद्देश्‍य नवाचार परितंत्र को स्‍थापित करना है। इससे प्रौद्योगिकी नवाचार और शिक्षण व्‍यवस्‍था में व्‍यापक बदलाव आएगा।

अटल नवाचार मिशन के प्रबंध निदेशक श्री रामनाथन रमणन ने कहा, ‘ये 3,000 अतिरिक्‍त स्‍कूल एटीएल कार्यक्रम की पहुंच को काफी हद तक बढ़ा देंगे जिससे और ज्‍यादा संख्‍या में बच्‍चे टिंकरिंग एवं नवाचार से अवगत हो सकेंगे। इसके साथ ही भारत के युवा अन्‍वेषकों की पहुंच अत्‍याधुनिक प्रौद्योगिकियों जैसे कि 3डी प्रिटिंग, रोबोटिक्‍स, इंटरनेट ऑफ थिंग्‍स (आईओटी) और माइक्रोप्रोसेसर तक सुनिश्चित हो जाएगी।’

इन अतिरिक्‍त एटीएल स्‍कूलों से वर्ष 2020 तक 10 लाख से भी ज्‍यादा आधुनिक बाल अन्‍वेषकों को तैयार करने का मार्ग प्रशस्‍त हो जाएगा। ये एटीएल इन विद्यार्थी अन्‍वेषकों के लिए नवाचार हब (केन्‍द्र) के रूप में कार्य करेंगी जिससे उन्‍हें उन अनूठी स्‍थानीय समस्याओं का समाधान ढूंढ़ने में आसानी होगी जिनका सामना उन्‍हें अपने दैनिक जीवन में करना पड़ता है। इन नए अतिरिक्‍त एटीएल स्‍कूलों की स्‍थापना के साथ ही एटीएल स्‍कूलों की कुल संख्‍या बढ़कर 5,441 हो जाएगी जो सभी राज्‍यों और सात केन्‍द्र शासित प्रदेशों में से पांच केन्‍द्र शासित प्रदेशों का प्रतिनि‍धित्‍व करेंगे।

इन नए स्‍कूलों के साथ ही नीति आयोग के अटल नवाचार मिशन (एआईएम) के तहत एटीएल पहल द्वारा सृजित उस सहयोगात्‍मक परितंत्र में उल्‍लेखनीय वृद्धि की परिकल्‍पना की गई है जिसमें विद्यार्थी, शिक्षक, मार्गदर्शक और औद्योगिक भागीदार नवाचार को बढ़ावा देंगे और आज के उन बच्‍चों में वैज्ञानिक समझ एवं उद्यमिता की भावना विकसित करने के लिए कार्य करेंगे जो आने वाले समय में राष्‍ट्र निर्माण में सफलतापूर्वक उल्‍लेखनीय योगदान करेंगे।

इन नव चयनित स्‍कूलों से उन सभी औपचारिकताओं के संबंध में शीघ्र ही संपर्क स्‍थापित किया जाएगा जो उन्‍हें अनुदान प्राप्‍त करने और अपने-अपने परिसरों में अटल टिंकरिंग लैब की स्‍थापना करने के लिए पूरी करनी हैं।

नीति आयोग के अटल नवाचार मिशन के बारे में
अटल नवाचार मिशन (एआईएम) देश में नवाचार और उद्यमिता की संस्‍कृति को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार द्वारा की गई एक प्रमुख पहल है। एआईएम का उद्देश्‍य देश में नवाचार परितंत्र पर नजर रखना और नवाचार परितंत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने के लिए एक छत्र या बृहद संरचना को सृजित करना है, ताकि विभिन्‍न कार्यक्रमों के जरिए समूचे नवाचार चक्र पर विशिष्‍ट छाप छोड़ी जा सके। अटल टिंकरिंग लैबो‍रेटरीज (एटीएल) अन्‍वेषकों और अटल इन्‍क्‍यूबेशन केन्‍द्रों का सृजन करने के साथ-साथ पहले से ही स्‍थापित इन्‍क्‍यूबेशन केन्‍द्रों को आवश्‍यक सहायता मुहैया कराती है, ताकि नवाचारों को बाजार में उपलब्‍ध कराना और इन नवाचारों से जुड़े उद्यमों की स्‍थापना करना सुनिश्चित हो सके।

कोई जवाब दें