नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने नई दिल्ली में एक बैठक के दौरान पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो से देशभर के पुलिस कर्मियों को व्यवहार कुशलता का प्रशिक्षण देने को कहा है। उन्होंने जिला स्तर पर ऐसे पुलिस कर्मियों की पहचान करने को भी कहा जो दूसरों के लिए आदर्श प्रस्‍तुत कर सकें। श्री राजनाथ सिंह ने मौजूदा दौर में अपराध के तौर तरीकों में बदलाव के मद्देनज़र साइबर अपराध जैसे मामलों से निपटने के लिए प्रशिक्षण देने पर भी जोर दिया ताकि वर्तमान चुनौतियों से निपटा जा सके।

पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो के महानिदेशक डॉ. एपी माहेश्वरी ने गृह मंत्री के समक्ष संस्थान में चल रहे मौजूदा परियोजनाओं और भविष्य की योजनाओं के संबंध में एक प्रस्तुतिकरण दिया। श्री सिंह ने जयपुर और चंडीगढ़ में केंद्रीय गुप्तचर प्रशिक्षण संस्थान की स्थापना को लेकर हुई प्रगति की भी समीक्षा की। हाल ही में भोपाल में शुरू हुई केंद्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी में सुधारात्मक प्रशासन केंद्र स्थापित करने का भी निर्णय लिया गया है। केंद्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी भोपाल में अभियोग और यातायात तकनीक में प्रशिक्षण के भी केंद्र खोले जाएंगे। गृह मंत्री नें पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो की ई-उस्ताद पोर्टल शुरू करने के लिए सराहना की। इस पोर्टल पर प्रशिक्षण आदि से जुड़ी उपयोगी समाग्री उपलब्ध है।

बैठक में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री श्री हंसराज अहीर, केंद्रीय गृह सचिव राजीव गाबा तथा गृह मंत्रालय और पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो के कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

कोई जवाब दें