रायपुर: छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय रायपुर के दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे. उपराष्ट्रपति बुधवार सुबह विशेष विमान से दिल्ली से रायपुर पहुंचे. रायपुर के पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में आयोजित इस कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने हिंदी के महत्व के बारे में बताया.

दीक्षांत समारोह में बोलते हुए एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि मैं पहले दक्षिण में चले हिंदी विरोधी आंदोलन से जुड़ा हुआ था, लेकिन बाद में मैं समझ गया कि हिंदी बिना कुछ भी संभव नहीं. हिंदी के बिना हिंदुस्तान आगे नहीं बढ़ सकता है.

वहीं मीडिया पर बोलते हुए एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि पत्रकारों को न्यूज और व्यूज को कंपाइल नहीं करना चाहिए. पत्रकारिता के जरिए देश के नागरिकों को जागरूक करना बेहद जरूरी है. उन्होंने कहा कि पत्रकारिता एक मिशन है और इसे इसी भावना से ही काम करना चाहिए.

मुख्य अतिथि एम वेंकैया नायडू ने कहा कि कुशाभाऊ ठाकरे जी के साथ कई साल काम किया है. पत्रकारिता मेरा पसंदीदा है. पत्रकार मित्रों से बहुत कुछ सीखा है.

कोई जवाब दें