बीजापुर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि ग्राम लोक सुराज अभियान पूरे देश में 5 मई तक संचालित होगा, श्री मोदी ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के ग्राम जांगला में आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि वे आयुष्मान योजना के पहले चरण और लोक सुराज अभियान की शुरुआत करने बीजापुर आये हैं। ग्राम लोक सुराज अभियान संपूर्ण देश में 5 मई तक संचालित होगा। क्षेत्र में नया कीर्तिमान बनाने के उद्देश्य से इन योजनाओं को लागू किया गया है।

इस दौरान उन्होंने जिले में करोड़ों रुपयों की अन्य योजनाओं का भी शिलान्यास किया और वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से भानुप्रतापपुर में नई रेल को हरी झंडी दिखाई। इस दौरान उन्होंने वनधन योजना, जिले में नई डायलिसिस मशीन का शुभारंभ, नेट परियोजना की शुरुआत, अलग-अलग क्षेत्रों में 1703 करोड़ रुपये की लागत से 1882 किलोमीटर सड़क निर्माण, इन्द्रावती नदी पर पुल निर्माण, मिंगाचल नदी में पुल निर्माण सहित अन्य योजनाओं का शुभारंभ किया।

अपने उद्बोधन से पहले प्रधानमंत्री ने हितग्राहियों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन, सुनने के यंत्र, ई-रिक्शा, इमली से बीज निकालने की मशीन और चरणपादुका योजना के तहत चरणपादुका भेंट की। इस दौरान उन्होंने महिला को स्वयं चरणपादुका पहनायी।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि वर्ष 2022 तक देश के प्रत्येक ब्लाॅक जहां आदिवासियों की आबादी 50 प्रतिशत से अधिक है, वहां एक मॉडल स्कूल बनाया जायेगा। आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों के लिए एक उत्तम प्रकार का संग्रहालय बनाया जायेगा। देश के सभी जिलों में अब यह नियम लागू कर दिया गया है कि खनन से हो रही आमदनी का एक हिस्सा स्थानीय आदिवासियों को मिलेगा।

उन्होंने बीजापुर का उल्लेख करते हुए कहा कि एक समय में यह पिछड़े इलाकों में आता था, लेकिन विकास की गति और केंद्र की योजनाओं के चलते इसका अस्तित्व अब पूरे देश में चमकने लगेगा। छत्तीसगढ़ राज्य में कभी दो ही मेडिकल कॉलेज हुआ करते थे, लेकिन अब वह बढ़कर 10 हो गए हैं।

प्रधानमंत्री ने क्षेत्र के ग्रामीणों के हित में निर्णय देते हुए कहा कि पूर्व में बांस को पेड़ों की श्रेणी में रखा गया था, जिसके चलते उसकी खेती कर पाना असंभव था। इसे अब वन कानून में सुधार कर स्वतंत्र कर दिया गया है। अब बांस की खेती अथवा उसका किसी भी प्रकार से उपयोग किया जा सकता है। बैंक मित्र, पोस्ट ऑफिस और मुद्रा योजना के तहत बगैर बैंक गारंटी के लोन की बात भी उन्होंने कही है।

राज्य के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने इस दौरान कहा कि बीजापुर में सभी जाति-जनजाति के लोगों को उज्ज्वला योजना का लाभ मिलेगा। इसके अलावा बीजापुर के छह लाख 40 हज़ार लोगों को आने वाले पांच महीनों में सौभाग्य योजना के तहत बिजली उपलब्ध हो जाएगी, किसी भी घर में अब अंधेरा नहीं होगा। स्काई योजना के तहत सभी छात्रों को स्मार्ट फ़ोन उपलब्ध कराया जायेगा और बस्तर नेट योजना के तहत मुफ्त में इंटरनेट की सुविधा भी उपलब्ध करायी जाएगी।

एक घंटे से अधिक समय के दौरान, प्रधानमंत्री ने बड़ी संख्या में लोगों से बातचीत की और उन्हें विकास हब में कई विकासात्मक पहलों की जानकारी दी गई। स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र के उद्घाटन के अवसर पर उन्होंने आशा के कार्यकर्ताओं के साथ बतचीत की। उन्होंने एक मॉडल आंगनवाड़ी केंद्र का भी दौरा किया एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं तथा पोषण अभियान के लाभार्थी बच्चों के साथ बातचीत की। उन्होंने हाट बाजार कियोस्क का भी भ्रमण किया एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। उन्हों जांगला में एक बैंक शाखा का उद्घाटन किया तथा चुने हुए लाभार्थियों को मुद्रा योजना के तहत ऋण मंजूरी पत्रों का वितरण किया। उन्होंने ग्रामीण बीपीओ कर्मचारियों से भी बातचीत की।

प्रधानमंत्री उसके बाद सार्वजनिक बैठक के स्थल पर पहुंचे। उन्होंने वन धन योजना लांच की जिसका उद्वेश्य जनजातीय समुदायों को सशक्त बनाना है। वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये प्रधानमंत्री ने भानुप्रतापपुर-गुडम रेल लाइन को राष्ट्र को समर्पित किया। प्रधानमंत्री ने वाम पंथ उग्रवाद (एलडब्ल्यूई) प्रभावित क्षेत्रों में 1988 किमी पीएमजीएसवाई सड़क के निर्माण के लिए ;वाम पंथ उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में अन्य सड़क परियोजनाओं ; बीजापुर में जलापूर्ति योजना एवं दो पुलों का शिलान्यास किया।

वहां उपस्थित उत्साहित जनसमूह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने उस क्षेत्र के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की जिन्होंने ब्रितानी साम्राज्यवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। उन्होंने उस क्षेत्र में नक्सली-माओवादी के हमलों में शहीद होने वाले सुरक्षा जवानों को भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

प्रधानमंत्री ने नोट किया कि केंद्र सरकार ने इससे पहले छत्तीसगढ़ से दो उल्लेखनीय विकास पहलों-श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन एवं प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजनाएं आरंभ की थी। उन्होंने कहा कि आज राज्य से आयुष्मान भारत एवं ग्राम स्वराज अभियान लांच की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि ग्राम स्वराज अभियान सुनिश्चित करेगा कि पिछले चार वर्षों के दौरान केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई सभी विकास पहलों का लाभ समाज के निर्धन एवं वंचित वर्गों तक पहुंचे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बाबा साहेब अम्बेडकर की करोड़ों लोगों के दिलों एवं दिमाग में ‘आकांक्षा‘ पैदा करने में मुख्य भूमिका थी।

इस समारोह को आज बीजापुर में आयोजित करने के महत्व की व्याख्या करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बीजापुर देश के 100 से अधिक आकांक्षी जिलों में से एक है जो विकास यात्रा में पीछे छूट गया है। उन्होंने कहा कि वह अब तक ‘पिछड़े‘ कहे जाने वाले इन जिलों को आकांक्षापूर्ण एवं महत्वाकांक्षी जिलों में रूपांतरित करने के इच्छुक हैं।

कोई जवाब दें