नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2018) के 11वें सीजन में मोहम्मद शमी दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेल पाएंगे या नहीं, इस बात का फैसला भ्रष्टाचार रोधी इकाई (ACU) की रिपोर्ट आने के बाद होगा. आईपीएल गवर्निंग काउंसिल मोहम्मद शमी मामले में नीरज कुमार की रिपोर्ट आने के तक इंतजार करेगी. बता दें कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के प्रशासकों की समिति (सीओए) ने बोर्ड की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) के प्रमुख नीरज कुमार को तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी पर उनकी पत्नी हसीन जहां के लगाए भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करने के निर्देश दिए थे.

मोहम्मद शमी मामले में राजीव शुक्ला ने कहा कि, ”सीओए की रिपोर्ट आने तक हम इंतजार करेंगे. एसीयू की जांच के बाद ही हम आईपीएल में शमी के खेलने या नहीं खेलने पर कुछ फैसला लेंगे.” बता दें कि शमी को दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने नीलामी में 3 करोड़ रुपए में खरीदा था. पत्नी के आरोपों के चलते शमी को बीसीसीआई का सालाना कॉन्ट्रैक्ट भी नहीं मिला है.

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी इन दिनों अपनी पत्नी हसीन जहां के साथ विवाद को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं. हसीन जहां ने शमी पर हसीन जहां ने शमी ने पर मारपीट, रेप, हत्या की कोशिश, घरेलू हिंसा और मैच फिक्सिंग जैसे कई गंभीर आरोप लगाए हैं. हसीन जहां ने शमी के खिलाफ केस भी दर्ज करवाया है. हसीन जहां ने मोहम्मद शमी के खिलाफ शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित करने और विवाहेतर संबंध रखने की शिकायत दर्ज कराई है. हसीन जहां के लगाए सभी आरोपों से शमी अब तक इंकार करते रहे हैं और लगातार यही कहते रहे हैं कि वह चाहते हैं कि उनके घर का झगड़ा घर में ही सुलझ जाए, लेकिन अब शमी ने भी हसीन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी से गुरुवार (15 मार्च) की शाम बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट ने तीन घंटे तक पूछताछ की. टीम ने शमी के दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटने के पूरे घटनाक्रम को रिकॉर्ड किया. हालांकि शमी ने इस दौरान दुबई जाने के मामले से अनभिज्ञता जताई. बता दें कि हसीन ने शमी के खिलाफ कथित व्यभिचार और घरेलू हिंसा का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत की है.

राय ने कुमार को शमी पर लगे भ्रष्टाचार संबंधी आरोपों की जांच कर एक सप्ताह में रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है. इस पत्र में गौर करने वाली बात यह है कि इसमें कही भी‘ मैच फिक्सिंग’ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया गया है. राय ने लिखा, “यह पत्र मोहम्मद शमी के खिलाफ आरोपों से संबंधित विभिन्न मीडिया रिपोर्टों के संदर्भ में हैं. प्रशासकों की समिति ने उस टेलीफोन बातचीत की रिकॉर्डिंग को सुना है जिसका दावा किया जा रहा कि वह शमी और उनकी पत्नी के बीच बातचीत की है. यह ऑडियो रिकार्डिंग पब्लिक डोमेन में मौजूद हैं.’’

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने अपने पति के खिलाफ अपनी शिकायतों से जुड़े दस्तावेज बीसीसीआई प्रशासकों की समिति के प्रमुख विनोद राय को भेजकर भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कराने को कहा है. जहां के वकील जाकिर हुसैन ने कहा, ‘‘हमने कोलकाता पुलिस मुख्यालय में दर्ज शिकायत का ब्यौरा और एफआईआर की कापी विनोद राय को भेज दी है.’’

जहां ने आरोप लगाया है कि शमी ने पाकिस्तानी महिला अलिस्बा से इंग्लैंड में बसे व्यवसायी मोहम्मद भाई के कहने पर पैसे लिए थे. राय ने बीसीसीआई की भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई के प्रमुख नीरज कुमार को मामले की जांच के लिए कहा है.

कोई जवाब दें