नई दिल्ली: पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और सीनियर ऑफ़ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध की नई सूची में सर्वाधिक धनराशि की शीर्ष श्रेणी में जगह नहीं दी गई है. बीसीसीआई ने नई ग्रेड ए+ श्रेणी की आज ही शुरुआत की जिसमें कप्तान विराट कोहली सहित केवल पांच खिलाड़ी हैं. ग्रेड ए+ श्रेणी में तीन बल्लेबाज कोहली, रोहित शर्मा और शिखर धवन तथा दो तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह शामिल है. इस श्रेणी के खिलाड़ियों का सालाना अनुबंध सात करोड़ रुपये का होगा.

धोनी और अश्विन को ग्रेड ए श्रेणी में रखा गया है जिसमें उनका सालाना अनुबंध पांच करोड़ रुपये का होगा. इस श्रेणी में उनके अलावा रविंद्र जडेजा, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे और ऋद्धिमान साहा शामिल हैं.

ये खिलाड़ी शामिल हैं बी कैटेगरी में
केएल राहुल, उमेश यादव, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, हार्दिक पंड्या, इशांत शर्मा और दिनेश कार्तिक को बी श्रेणी में रखा गया है जिनका वार्षिक अनुबंध तीन करोड़ रुपये का होगा. एक करोड़ रुपये की सालाना अनुबंध वाली ग्रेड सी श्रेणी में केदार जाधव, मनीष पांडे, अक्षर पटेल, करुण नायर, सुरेश रैना, पार्थिव पटेल और जयंत यादव शामिल हैं. यह वार्षिक अनुबंध अक्टूबर 2017 से सितंबर 2018 के लिए होगा.

बीसीसीआई ने बयान में कहा, “प्रशासकों की समिति( सीओए) का मानना है कि भारतीय क्रिकेट के प्रदर्शन और स्थिति को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ शुल्क ढांचे के समान रखने की जरूरत है.”

महिलाओं में विश्वकप स्टार मिताली राज, झूलन गोस्वामी, हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंदाना को शीर्ष स्तर की श्रेणी में रखा गया है. उनका वार्षिक अनुबंध 50 लाख रुपये होगा. पूनम यादव, वेदा कृष्णमूर्ति, राजेश्वरी गायकवाड़, एकता बिष्ट, शिखा पांडे और दीप्ति शर्मा को बी ग्रेड में रखा गया है जिनका सालाना अनुबंध 30 लाख रुपये होगा.

महिलाओं की सी श्रेणी भी होगी जिसमें रखी गई खिलाड़ियों का वार्षिक अनुबंध दस लाख रुपये का होगा. इस सूची में मानसी जोशी, अनुजा पाटिल, मोना मेशराम, नुजहत परवीन, सुषमा वर्मा, पूनम राउत, जेमिमा रोड्रिग्स, पूजा वस्त्राकर और तानिया भाटिया शामिल हैं.

कोई जवाब दें