वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की है और दोनों नेताओं ने हैदाराबाद में हाल में हुए वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन (जीईएस) पर संतोष जताया. यह जानकारी शनिवार को यहां ह्वाइट हाउस की एक विज्ञप्ति में दी गई. यह तीन दिवसीय सम्मेलन भारत और अमेरिका की भागीदारी में किया गया था. इसमें अमेरिकी दल का नेतृत्व डोनाल्‍ड ट्रंप की पुत्री और उनकी आधिकारिक सलाहकार इवांका ट्रंप ने किया.

28 नवंबर को हैदराबाद में आयोजित तीन दिवसीय जीईएस सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेने पहुंची इवांका ने कहा कि कई विकासशील और विकसित देशों में अभी महिलाओं के लिए न्यायसंगत कानूनों के संदर्भ में बहुत कुछ करना बाकी है. उन्होंने कहा कि बात जब न्यायसंगत कानूनों की आती है तो कई विकसित और विकासशील देशों ने जबरदस्त प्रगति की है, लेकिन अभी भी काफी कुछ किया जाना बाकी है. उन्होंने कहा कि कुछ देशों में महिलाओं को संपत्ति का अधिकार नहीं दिया जाता, अकेले सफर करने नहीं दिया जाता या बिना अपने पतियों के सहमति से काम करने नहीं दिया जाता. वहीं, कुछ अन्य देशों में सांस्कृतिक और पारिवारिक दवाब इतना ज्यादा होता है कि महिलाओं को घर से बाहर जाकर काम करने की आजादी नहीं मिलती.

इवांका ने कहा, ‘हमारा प्रशासन दुनिया भर में महिलाओं के लिए अधिक से अधिक अवसरों को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है, इसे हमारे घरेलू सुधारों और अंतर्राष्ट्रीय पहलों के माध्यम से बढ़ावा दिया जा रहा है.’ उन्होंने कहा कि जब कोई महिला काम करती है, तो यह गुणक प्रभाव पैदा करता है और परिवार और समाज में और अधिक पुनर्निवेश करता है.

इसके साथ ही पीएम मोदी ने 2017 वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन में कहा, “दुनिया भारत के मेरे निवेशक मित्रों, मैं आपसे कहना चाहता हूं कि आइए, भारत में उत्पादन कीजिए, भारत में निवेश कीजिए, भारत के लिए और दुनिया के लिए. मैं आप सब को भारत के विकास की कहानी में भागीदार बनने के लिए आमंत्रित करता हूं. और एक बार फिर आपको आश्वस्त करता हूं कि हम आपको पूरे दिल से समर्थन देंगे.”

इस सम्मेलन का आयोजन अमेरिका और भारत द्वारा मिलकर किया गया. इस सम्मेलन में 159 देशों के 1500 उद्यमी, निवेशक और पारिस्थितिकी तंत्र समर्थकों ने भाग लिया.

कोई जवाब दें