नई दिल्ली। केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली आज रात सिंगापुर की दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर रवाना हो रहे हैं; इस यात्रा के दौरान सिंगापुर के प्रधान मंत्री, उप प्रधान मंत्री और वित्त मंत्री से मिलने का कार्यक्रम है; देश में निवेश के लिए वरिष्ठ निधि प्रबंधकों और प्रमुख वित्तीय संस्थागत निवेशकों से भी मिलने का कार्यक्रम है।
केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली आज रात सिंगापुर की आधिकारिक यात्रा पर रवाना होंगे।वे 15 एवं 16 नवंबर 2017 को सिंगापुर की दो दिवसीय यात्रा पर रहेंगे। वित्त मंत्री के साथ मंत्रालय में आर्थिक मामलों के विभागीय (डीईए) सचिव श्री सुभाष चंद्र गर्ग भी साथ जा रहे हैं। इस यात्रा के दौरान वित्त मंत्री श्री जेटली भारत और सिंगापुर के बीच घनिष्ठ संबंधों के हमारे साझा इतिहास, मजबूत वाणिज्यिक, सांस्कृतिक और दोनों देशों के निवासियों के बीच आपसी संबंधों को नया आयाम देंगे।

15 नवंबर 2017 को वित्त मंत्री सिंगापुर एक्सपो जायेंगे और सिंगापुर फाइनटेक महोत्सव, एक ऐसा वैश्विक आयोजन जिसमें 10,000 से भी अधिक प्रतिभागियों भाग लेंगे, में उद्घाटन भाषण देंगे। वित्त मंत्री एक्सपो में स्थित भारत पवेलियन भी देखने जायेंगे जहां सरकार के बाहर और भीतर दोनों में वित्तीय प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ाने में भारत की उपलब्धियों का प्रदर्शन दिखाया गया है।

16 नवंबर 2017 को वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली “भारत: संरचनात्मक सुधार एवं विकास पथ पर अग्रसर” विषय पर सिंगापुर के 16वें वार्षिक मॉर्गन स्टेनली एशिया प्रशांत शिखर सम्मेलन में मुख्य वक्ता होंगे। इस शिखर सम्मेलन के दौरान, श्री जेटली मॉर्गन स्टेनली के वरिष्ठ प्रबंधकों से मुलाकात करेंगे तथा वरिष्ठ निधि प्रबंधकों और प्रमुख वित्तीय संस्थागत निवेशकों के एक समूह को संबोधित भी करेंगे।

इस यात्रा के दौरान, केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली सिंगापुर के उप-प्रधानमंत्री (डीपीम) श्री थर्मन शनमुहारतनम से द्विपक्षीय मुद्दों पर वार्ता भी करेंगे। वह अपने समकक्ष सिंगापुर के वित्त मंत्री श्री हेंग स्वी कीट के साथ निवेश और अन्य मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे।

इस यात्रा के दौरान केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली का सिंगापुर के प्रधानमंत्री श्री ली हिसेन लुंग से भी मिलने का कार्यक्रम है।

सरकार द्वारा निवेशकों के अनुकूल किए गये सुधारों से कई विदेशी निवेशकों को अवगत कराने के लिए वित्त मंत्रालय और सिंगापुर स्थित भारतीय उच्चायोग निवेशकों के गोलमेज सम्मेलन का आयोजन कर रहा है और साथ ही भारत में निवेश को बढ़ावा देने के लिए इनके विचारों और सुझावों को भी समझने का प्रयास करेगा। इस सम्मेलन की सह-अध्यक्षता डीईए सचिव श्री सुभाष चंद्र गर्ग तथा सिंगापुर वित्त मंत्रालय में स्थायी सचिव सुश्री टैन चींग ईई संयुक्त रूप से करेंगे। शुरूआत में वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली निवेशकों को संबोधित भी करेंगे।इस निवेशक सम्मलेन के प्रतिभागियों में सिंगापुर में अग्रणी संस्थागत निवेशकों और व्यापारिक घरानों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे जो वैश्विक स्तर पर निवेश को नियंत्रित करते हैं तथा जो भारत में मौजूदा निवेश या निकट भविष्य में ऐसे निवेश पर विचार कर रहे हैं।

कल से शुरू होने वाले इस दो दिवसीय आधिकारिक दौरे के दौरान भारत के वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली जीआईसी के सीईओ, सिंगापुर सरकार के स्वायत्त धन निधि (एसडब्ल्यूएफ) के सीईओ, सिंगापुर विकास बैंक (डीबीएस) के अध्यक्ष, सिंगापुर एयरलाइंस के सीईओ, ब्लैकस्टोन एशिया पैसिफिक के चेयरमैन और सिंगापुर स्टॉक एक्सचेंज के सीईओ के साथ भी बैठक करेंगे।

यात्रा के दौरान, वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली प्रमुख निवेश कंपनी टेमासेक के अध्यक्ष और निदेशक मंडल के साथ सिंगापुर स्थित मुख्यालय में मुलाकात करेंगे।

सिंगापुर की अपनी दो दिवसीय दौरे के पूरा होने के बाद वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली 16 नवंबर 2017 की देर शाम नई दिल्ली लौट आएंगे।

कोई जवाब दें