मनीला । प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज फिलीपींस स्थित लॉस बनोस में अंतर्राष्ट्रीय चावल शोध संस्थान (आईआरआरआई) का दौरा किया। आईआरआरआई एक महत्वपूर्ण शोध संस्थान है जो चावल विज्ञान के जरिए गरीबी और भुखमरी में कमी करने, चावल उत्पादकों एवं उपभोक्ताओं का स्वास्थ्य बेहतर करने तथा खुशहाली बढ़ाने और भावी पीढि़यों के लिए चावल पैदावार हेतु अनुकूल माहौल बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है।

प्रधानमंत्री ने एक फोटो प्रदर्शनी भी देखी। इसमें बाढ़ रोधी चावल किस्‍मों, सूखा रोधी चावल किस्‍मों, लवणता रोधी चावल किस्‍मों और महिला कृषि सहकारी समितियों के साथ आईआरआरआई के कार्यों से जुड़ी फोटो प्रदर्शित की गई थीं।

प्रधानमंत्री ने डूब रोधी चावल किस्मों के रोपण के लिए एक नए भूखंड में प्रतीकात्मक रूप से मिट्टी खोदी। उन्होंने ‘श्री नरेन्द्र मोदी रिसिलिएंट राइस फील्‍ड लैबोरेटरी’ के उद्घाटन अवसर पर एक पट्टिका का अनावरण किया। उन्होंने आईआरआरआई जीन बैंक को चावल बीज की दो भारतीय किस्में सौंपीं।

यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री ने आईआरआरआई में कार्यरत भारतीय वैज्ञानिकों से बातचीत की।

प्रधानमंत्री ने मनीला स्थित महावीर फिलीपीन फाउंडेशन का भी दौरा किया। यह भारत और फिलीपींस के बीच दीर्घकालिक मानवीय सहयोग कार्यक्रम है। इसकी स्थापना मनीला के भारतीय मूल के मेयर डॉ. रमन बगटसिंग ने की थी। महावीर विकलांग सहायता समिति के सहयोग से इस फाउंडेशन ने जरूरतमंदों को आवश्‍यक पैर सुलभ कराने के लिए ‘जयपुर फुट’ की फिटमेंट में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। प्रधानमंत्री ने ‘जयपुर फुट’ से लाभान्वित लोगों से बातचीत की।

कोई जवाब दें