नई दिल्ली: राजधानी में बदरा भले ही झमाझम नहीं बरस रहे हों लेकिन चीन के साथ सीमा पर तनाव , कश्मीर के बिगड़ते हालात , किसान आंदोलन और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे मुद्दों पर विपक्ष सोमवार से शुरु हाे रहे संसद के मानसून सत्र में सरकार पर जमकर बरसने को तैयार है, कुछ विपक्षी दलों के नेताओं और उनके परिजनों के ठिकानों पर सीबीआई , आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय के छापों , गौ रक्षा के नाम पर पीट – पीट कर हत्या किये जाने की घटनाओं को भी विपक्षी दल जोर शोर से उठायेंगे।

पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में गोरखालैंड आंदोलन तथा राज्य में कुछ स्थानों पर दंगों की घटनाएं भी संसद में उठने की संभावना है।

कश्मीर में आतंकवाद की बढ़ती घटनायें विशेष कर अमरनाथ यात्रियों पर हुये हमले से देश के लोगों में नाराजगी के मद्देनजर विपक्ष सरकार पर तीखा हमला बोलने की तैयारी में है।

कोई जवाब दें