प्रधानमंत्री मोदी का Mygov- मायगव कैसे काम करता, सीईओ गौरव द्विवेदी 20 जुलाई को भोपाल में बतायेंगे
शिवराज बनाएंगे Mymp
भोपाल, 15 जुलाई 2017 । भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किये गए इंटरेक्टिव पोर्टल www.mygov.in के आधार पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान माय एमपी ला रहे हैं।

Mygov – मायगव के सीईओ और वरिष्ठ आईएएस अधिकारी गौरव द्विवेदी ने एमपीपोस्ट को बताया कि वे 20 जुलाई 2017 को भोपाल आ रहे हैं। वे मध्यप्रदेश के मुख्य सचिव और राज्य के समस्त प्रमुख सचिवों के समक्ष बल्लभ भवन में एक विशेष प्रेजेंटेशन देकर यह बताऐंगे कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का मायगव कैसे काम करता है। श्री द्विवेदी मध्यप्रदेश के प्रमुख सचिवों को टिप्स भी देंगे कि मायएमपी किस तरह डिजिटल इंगेजमेंट प्लेटफार्म बन सकता है।

इसी दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की भी सीईओ गौरव द्विवेदी से मुलाक़ात प्रस्तावित है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के Mygov.in पोर्टल पर कोई भी भारतीय नागरिक अथवा शासकीय अधिकारी और कर्मचारी स्वयं को पंजीकृत करके विभिन्न समूहों का हिस्सा बनकर अपने विचार प्रस्तुत कर सकता है। इसके अतिरिक्त विभिन्न कार्यों, चर्चाओं, वार्ता, क्रिएटिव कार्नर एवं ब्लॉग के माध्यम से अपनी रूचि के कार्यों को आम नागरिक सरकार के साथ साझा कर सकता है।

वर्तमान में यह प्लेटफार्म नागरिकों में अत्यंत लोकप्रिय है। प्रतिदिन लगभग 30 से 35 हजार नागरिक इस पर विजिट करते हैं तथा प्रतिपल लगभग 250 से 350 नागरिक पोर्टल पर सक्रिय रहते हैं। वर्तमान में जुलाई 2017 की स्थिति में इस पोर्टल पर पंजीकृत नागरिकों की संख्या लगभग 44.18 लाख है। पोर्टल पर कुल 725 डिस्कशन थीम, 649 टास्क, 238 जनमत, 133 वार्ता एवं 60 समूह हैं जिन पर 37.48 लाख लोगों ने कार्य किया है और 188.97 लाख लोगों ने अपने सुझाव दिये हैं। अनेक लोगों ने ब्लॉग के माध्यम से भागीदारी की है। इस प्रकार यह पोर्टल शासन के नागरिकों से प्रभावी संवाद का उत्कृष्ट उपकरण साबित हुआ है। मायगव के सीईओ गौरव द्विवेदी सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय को रिपोर्ट करते हैं ।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के Mygov.in पोर्टल की तर्ज पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी ‘मेरा मध्यप्रदेश’ पोर्टल ला रहे हैं। जिसका यूआरएल Mymp.gov.in होगा।

मुख्यमंत्री कार्यालय में उपसचिव के पद पर पदस्थ आईएएस अधिकारी नंद कुमारम इसके मुख्य कार्यपालन अधिकारी Mymp.gov हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय के अंतर्गत माय एमपी सेल की स्थापना भी की जा चुकी है। इससे मुख्यमंत्री सीधे नजर रखेंगे।

कोई जवाब दें