भोपाल। मध्यप्रदेश के वित्त एवं वाणिज्यिक कर मंत्री श्री जयंत मलैया ने नई दिल्ली में केन्द्रीय वित्त मंत्री और जी.एस.टी. काउंसिल के अध्यक्ष श्री अरूण जेटली से भेंट की। श्री मलैया ने जीएसटी प्रणाली लागू होने के बाद व्यापरियों को होने वाली कठिनाइयों के संबंध में श्री जेटली से चर्चा की।

श्री मलैया ने प्रमुख रूप से विधि संबंधी परेशानियों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि व्यवसा‍यियों के क्लोजिंग स्टॉक पर सेन्ट्रल एक्साईज ड्यूटी में अधिक छूट मिलना चाहिये। श्री मलैया ने विवरण प्रपत्रों को सरल बनाने की जरूरत बताई।

वित्त मंत्री श्री मलैया ने विभिन्न वस्तुओं पर कर की दर कम करने की बात कही। उन्होंने देशी घी, बटर, ड्रायफ्रूट, टाइल्स, ब्रॉण्डेड अनाज एवं दालें, कपड़ा डिटर्जेंट पाउडर, केक, दौना-पत्तल, टॉफी गोली, रीप्रोसेस्ड तथा वेस्ट प्लास्टिक से निर्मित कृषि पाईप तथा बिस्कुट आदि पर कर दर कम करने का अनुरोध किया। श्री मलैया ने मोबाइल तथा कम्प्यूटर पर एक समान कर की दर नियत करने पर विचार करने का आग्रह किया। उन्होंने ट्रेवल तथा टूरिज्म के हित में होटल के 5000 रुपये के रूम रेंट पर 28 प्रतिशत की दर को कम करने की जरूरत बतायी।

कोई जवाब दें