नई दिल्ली। आरआईएनएल, विशाखापत्तनम इस्पात संयंत्र (वीएसपी) @RINL_VSP ने हाल ही में समाप्त वित्त वर्ष 2016-17 में अपने परिचालन एवं बिक्री के सभी मोर्चों पर उल्लेखनीय प्रदर्शन किया है। आरआईएनएल के सीएमडी श्री मधुसूदन ने विशाखापत्तनम में रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि आने वाले वर्ष में इस्पात की मांग बढ़ेगी। इस्पात मंत्री श्री बीरेन्द्र सिंह @ChBirenderSingh ने भी आरआईएनएल के प्रदर्शन की सराहना की, जो इस्पात मंत्रालय का एक सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम (पीएसयू) है @SteelMinIndia।

वीएसपी ने वर्ष 2016-17 को दौरान तप्त धातु, द्रव इस्पात, तैयार इस्पात और बिक्री योग्य इस्पात के उत्पादन में क्रमश: 11, 10, 16 और 10 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। एक अन्य उपलब्धि यह रही है कि वायर रॉड मिल-2 से हुए उत्पादन में 43 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई है। धातुमल (सिंटर) का सकल उत्पादन 6 मिलियन टन के स्तर पर पहुंच गया, जो 5 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

आरआईएनएल के सीएमडी श्री पी. मधुसूदन ने उपलब्धियों के लिए वीएसपी संगठन की सराहना की और यह विश्वास जताया कि चालू वित्त वर्ष में विस्तार इकाइयों सहित कुल उत्पादन में अच्छी-खासी वृद्धि होगी।

श्री मधुसूदन ने कहा कि आम बजट 2017-18 में इस्पात क्षेत्र के लिए अनुकूल मांग परिदृश्य होने का उल्लेख किया गया है। इसके साथ ही सरकार बुनियादी ढांचे एवं किफायती मकानों पर विशेष जोर दे रही है जिससे देश में इस्पात की खपत के मद्देनजर इसकी मांग बढ़ेगी।

बुनियादी ढांचागत क्षेत्र के साथ-साथ निर्माण क्षेत्र में भी सुस्ती होने के बावजूद आरआईएनएल का कारोबार 4 प्रतिशत बढ़कर 12781 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया। वर्ष 2016-17 के इस आंकड़े में 1048 करोड़ रुपये का निर्यात भी शामिल है। वर्ष 2016-17 के दौरान सभी विपणन क्षेत्रों में वृद्धि आंकी गई।

आरआईएनएल ने मार्च ’17 के दौरान 5.77 लाख टन की बिक्री की, जो 27 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। इसी तरह इस दौरान आरआईएनएल का कारोबार 2205 करोड़ रुपये आंका गया जो मार्च ’16 की तुलना में 44 प्रतिशत अधिक है।

देश में ब्रांड प्रचार अभियान पहले ही शुरू किया जा चुका है। पद्मश्री से सम्मानित बैडमिंटन चैंपियन पी.वी. सिंधु @Pvsindhu1 इसकी ब्रांड एम्बेसडर हैं। इसके अलावा नई दिल्ली जाने वाली विजाग स्टील समता/स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस के जरिए भी इसकी ब्रांडिंग की जा रही है।

कोई जवाब दें